Friday, February 21, 2014

पता है मुझे

पता है मुझे कि तेरा दिल आबाद है
पर कहीं वीरान सूनी कोई जगह मेरे लिये?......



No comments: